सर्दी में घूमना

जाड़े के मौसम में भारत घूमने से अनेक प्रकार के त्योहार और छुट्टियां देखने को मिलती हैं। भारत में कुछ बेहतरीन जगहों की यात्रा करने के लिए पर्यटक अपनी जेब खाली करते हैं - बर्फ से ढकी हुई पहाड़ों की चोटियां, उष्णकटिबंधीय तटरेखा, बड़े-बड़े खेतों से लेकर कम-प्रसिद्ध और लोकप्रिय दोनों प्रकार के त्योहारों का मजा लेते हैं, यात्री गर्म और नमी भरे मौसम से बच जाते हैं और इस मौसम में हर तरफ शानदार स्थानों का आनंद लेते हैं। यहां हमारे कुछ सुझाव हैं।

भारत के भीतर

jpg

दिल्ली (एनसीआर)

नई दिल्ली

यहां आने का सबसे उपयुक्त समय: अक्टूबर और नवंबर या फरवरी और मार्च

अभी बुक करें

जब गर्मियों के समय दिल्ली का पारा 40 तक जा गिरता है, तो आप राजधानी को अलविदा कहें। इसके कैलेंडर इसके सबसे पसंदीदा महीनों के बीच ही घूमते रहते हैं। भारत की राजधानी घूमने का जाड़े के अलावा दूसरा कोई पसंदीदा मौसम नहीं है। जाड़े के मौसम में यहां की विरासत, भोजन और खरीदारी का मजा लें। आगरा के बारे में, जबकि यह पूरे साल भर मूल रूप से सुर्खियों में रहता है। वैसे तापमान गर्मी के मौसम में अच्छा नहीं रहता। इसके बाद, यदि आपके पास विकल्प है तो जाड़े में भारत घूमने के दौरान दिल्ली को अपनी यात्रा में शामिल करें। इस समय यहां का मौसम ठंडा और सुहाना होता है। अनेक ऐतिहासिक स्थलों की चमक, चारों ओर फैली भरपूर हरियाली, खुले बाजार, मकान-इमारतों के अजूबों से भरी राजधानी शहर दिल्ली भारत में जाड़े के मौसम में घूमने वाले स्थानों में शुमार है। तेज गर्मी और उमस भरी आंधी भरे मौसम में स्थानीय लोग और मेहमान घरों या शॉपिंग सेंटरों तक सीमित हो जाते हैं। जाड़े के दौरान ही आप इसकी वास्तविक रोमांच और संस्कृति का आनंद ले सकते हैं।

इस शहर में रहते हुए, आप चांदनी चौक जाने की उत्सुकता और कनाट प्लेस के चहल-पहल वाले माहौल के आकर्षण से बच नहीं सकते। चांदनी चौक सबसे पुराने और शहर के व्यस्ततम क्षेत्रों में से एक है। यह अपनी अनेक प्रकार की दूकानों के लिए जाना जाता है, जहां स्वर्ण-आभूषण, संग्रहणीय वस्तुएं, निश्चित रूप से कपड़े भी और स्ट्रीट फूड इत्यादि मिलते हैं। क्रैकरजैक कार्निवल, ग्रेट ग्रैंड विंटर कार्निवल, नैशनल स्ट्रीट फूड फैस्टिवल, लोहरी त्योहार, सूरजकुंड मेला, इंडियन आर्ट फेयर इत्यादि त्योहार इस शहर की विशेषता है।

jpg

केरल

जाने का उपयुक्त समय: सितंबर से फरवरी

अभी बुक करें

इस वक्त मानसून जाने को होता है और केरल का नियमित सुहानापन अपने चरम पर होता है। पश्चिमी घाट और बैकवाटर्स केरल के अनोखे आकर्षण को बढ़ाते हैं और इसलिए यह जाड़े के मौसम में घूमने वाली भारत की सबसे अच्छी जगह बन जाती है। केरल में घूमने वाली बहुत सी जगहें हैं जैसे कोवलम और वर्कला समुद्र तटें, अल्लेप्पी वैकवाटर्स, तेक्कडी और कुमिली जेस्ट गार्डन, कलाडी स्पा और आयुर्वेद, और मुन्नार टी स्टेट्स। साइलेंट वैली नैशनल पार्क में शेर जैसे दिखने वाले लंगूर, बाघ, और पेरियार वन्यजीव अभयारण्य में हाथी, और कुमारकोम पक्षी अभयारण्य में अनेक किस्म के पक्षी के कारण केरल प्रकृति प्रेमियों के लिए एक प्राइम स्पॉट है। यहां तपती गर्मी और नम मौसम में न आएं, ज्यादातर लोग यहां जाड़े में आना चाहते हैं। केरल अपने वैकवाटर्स, समुद्रतटों, भारी हरियाली, अभयारण्यों, आयुर्वेद स्पा, स्लोप स्टेशन और और देश के सबसे बड़े बाघ संरक्षण केंद्र के लिए जाना जाता है। ये सभी संस्कृति और अभिव्यक्तियों के असाधारण और सबसे खूबसूरत अवसरों से घिरे हुए हैं। निश्चित रूप से यह भारत में जाड़े में सबसे अधिक घूमा जाने वाला स्थान है।

केरल में अनेक प्रकार के उत्सव होते हैं जो पूरे राज्य में मनाए जाते हैं और इसमें स्थानीय लोगों के साथ-साथ पर्यटक भी लोकप्रिय रूप से भाग लेते हैं। यहां के कुछ लोकप्रिय त्योहार हैं ओणम, केरल बोट रेस त्योहार, अट्टुकल पोंगल त्योहार, परम्परया, त्रिशूर पुरम त्योहार, तेय्यम त्योहार इत्यादि।

jpg

राजस्थान

उदयपुर

जाने का उपयुक्त समय: दिसंबर - फरवरी

अभी बुक करें

झीलों के इस शहर में और भी बहुत चीजें हैं, जो इन्हें दिसम्बर में भ्रमण के लिए एक आदर्श स्थान बनाती हैं, जिनमें शामिल हैं- लेक पैलेस, फतेह सागर झील, मॉनसून पैलेस और जग मंदिर। उदयपुर की मुख्य बात यह है कि यह अरावली पहाड़ियों की ढालों पर बसा है। पूरब के इस वेनिस का तापमान दिसम्बर में ठंडा रहता है, हालांकि विस्तृत फैली हुई पहाड़ियों के कारण यहां की झीलें अद्भुत प्रभाव छोड़ती हैं। इन सभी चीजों के साथ आपको जो एहसास मिलेगा वह कमाल होगा। और यदि आप कलात्मक रुचि के लोग हैं, तो आपको यहां के स्थानीय परंपरागत कलाकृतियों को देखने के लिए शिल्पग्राम आर्ट्स और क्राफ़्ट्स फेस्टिवल अवश्य जाना चाहिए। आप यहां नामचीन शिल्पकारों से कारीगरी भी सीख सकते हैं।

जरा कल्पना कीजिए- सर्द जाड़ा हो, आपके हाथ में आपकी पसंदीदा ड्रिंक हो और आप पिछोला झील के शांत पानी को देख रहे हों, जिसके बीचो-बीच प्रसिद्ध लेक पैलेस का अक्स उभर रहा हो। आप इस तस्वीर को जीवित कर सकते हैं, जिसके लिए आपको ड्राइव कर उदयपुर जाना होगा (दिल्ली से 11 घंटे की दूरी पर है) और वहां आप सुकून के कुछ पल बिताइए। राजस्थान का यह झीलों का शहर वाकई आपको हैरान कर देगा और यहां के मनोरम दृश्यों को बयां करना सचमुच किसी के बस की बात नहीं है। दिन के समय आप सिटी पैलेस का भ्रमण कर सकते हैं, जहां आपको कई सारे रास्ते मिल जाएंगे जो चकरा देने वाले प्रांगणों और घिरे हुए स्थानों में खुलते हैं। कुछ और भी स्थान जो आपको खूब लुभाएंगे, उनमें शामिल हैं- रनकपुर का जैन मंदिर और फतेह बाग पैलेस जो आज शाही ठहराव प्रदान करता है। हम आपको रात के समय किसी घरेलू ढाबे पर खाने का सुझाव देंगे, जैसे कि अम्ब्रानी या उदय कोठी, जहां बैठ कर आप आसमान के टिमटिमाते तारों का नज़ारा ले सकते हैं।

jpg

पंजाब

अमृतसर

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: नवम्बर से मार्च

अभी बुक करें

यदि इस सर्दी में आपको एक धार्मिक और अनोखी यात्रा की जरूरत हो और आपको सुहावने तापमान और खुशनुमा हवाओं की तलाश है, तो गोल्डन सैंक्चुअरी की ओर, मंदिरों के शहर की ओर निकल पड़िए और इन सब में वैष्णो देवी की यात्रा आपको परम आनंद देगी। उत्तर-पश्चिमी मैदान कुछ समय के लिए धुंध मुक्त रहते हैं। किसी भी सूरत में, पंजाब और हरियाणा के कुछ पृथक इलाके तो धुंध में ही डूबे होते हैं। हालांकि 22 और 23 जनवरी को हुई वर्षा से पंजाब और हरियाणा धुंध-मुक्त हो गए। इन स्थितियों के कारण इस दौरान दिन का तापमान काफी बढ़ गया था। 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के दिन तक तो काफी घना कोहरा छा गया। उसके बाद से समूचा राज्य धुंध में डूब गया। इस प्रकार, दिन का तापमान नीचे गिरने लगा और पंजाब के कई इलाकों और हरियाणा के कुछ क्षेत्रों में कंपकपाती सर्दी गिरनी शुरु हो गई।

सर्दियों के दौरान, कई प्रकार के त्योहार आते हैं जिसके लिए दुनिया भर के लोग अमृतसर की ओर चल पड़ते हैं। इन त्योहारों में शामिल हैं- बैसाखी, होला मोहल्ला, लोहड़ी, बसंत पंचमी इत्यादि।

jpg

उत्तराखंड

देहरादून

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: दिसम्बर से फरवरी

अभी बुक करें

तपता वायुमंडल, गर्मियों के झौंके और सूखा मौसम गर्मियों के दिनों को काफी कष्टदायक बना डालते हैं। पर सर्दियां एक अलग उम्मीद लेकर आती हैं जो आपको उत्साह से भर देती हैं। इस मौसम में लोग संतोष और जिंदादिली से भर जाते हैं और उनके जीवन में एक नए उत्साह का संचार होता है। इन सभी चीजों के बीच वे यात्रा करने के विकल्प खोजने लगते हैं। इन सभी के बीच, उत्तराखंड ऐसा ही एक विकल्प है।

सर्दियों के मौसम में पहाड़ के निकट स्थित शहर देहरादून घूमने का एक अच्छा समय होता है, क्योंकि इस समय यहां का तापमान काफी गिर जाता है और 3 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचता है। सर्दियों में होने वाला यह इजाफा पहाड़ों पर होने वाली बर्फ़बारी के कारण होता है, जो आस-पास के शहरों का स्वागत करती है और पूरे इलाके को ठंड के आगोश में ले लेती है। भले ही दिन का तापमान हल्की गर्मी वाला होता है जिसमें ठंड बनी रहती है, पर रातें हमेशा कंपकपाने और जमा देने वाली होती हैं। यद्यपि पहाड़ों की तलहटी में बसा यह शहर काफी प्यारा दिखता है और धुंध में डूबा रहता है, पर यह तापमान ज्यादातर लोगों के लिए मुफ़ीद न भी हो सकता है। यही कारण है कि ज्यादातर लोग पहाड़ों की तलहटी में बसे इस शहर में कुछ ही दिनों के लिए आना चाहते हैं। बहरहाल, यदि आप बर्फ़ प्रेमी हैं, और आप यहां आने का कार्यक्रम बना रहे हैं, तो उचित रहेगा कि आप इसकी पूरी तैयार कर लें, ख़ासकर कपड़ों के लिहाज से। आपके सामान में भरपूर मात्रा में ऊनी कपड़े मौजूद होने चाहिए।

देहरादून के कुछ बेहद आकर्षक त्योहार हैं- झंडा फेयर, तापकेश्वर मेला, लक्ष्मण सिंह मेला, बिसू मेला, महासुदेवता मेला, शहीद वीर और केसरी चंद्र मेला।

 

jpg

गोवा

उत्तर और दक्षिण गोवा

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: मध्य नवम्बर से जनवरी

अभी बुक करें

गोवा भारत में दिसम्बर में भ्रमण किया जाने वाला बहु-चर्चित स्थल है। इस समय गोवा में मौजूद जुआ क्लब्स खूब गुलजार रहते हैं, यही कारण है कि इसे 'भारत का लास वेगास’ भी कहा जाता है। नए साल के अवसर पर पटाखों और तेज म्यूजिक के बीच आपके पैर थिरके बिना नहीं रह पाएंगे, जो आपके लिए बेहतरीन एहसास होगा! आपकी तलाश यहीं खत्म नहीं होती- सबसे बड़ी ईडीएम पार्टी, सेंट फ्रांसिस जेवियर चर्च, VH1 सुपरसोनिक, गोवा फ़िल्म फेस्टिवर और सनबर्न म्यूजिक फेस्टिवल भी आपको खूब लुभाएंगे। क्रिसमस और नव वर्ष के लिए आपकी जो भी उम्मीदें हों, यह स्थान आपको हर कुछ मुहैय्या कराता है।

गोवा, भारत की पार्टी राजधानी है, जो पूरे वर्ष भर गुलजार रहता है। इसकी मनोरम तट और रात में होने वाली पार्टियां इसे तफ़रीह पसंद लोगों के लिए एक अनूठा स्थल बनाते हैं। इसके अलावा, गोवा विरासत और संस्कृति का एक समृद्ध स्थान है और अपनी हरेक यात्रा में आपको कुछ न कुछ नया जरूर मिलेगा। सर्दियों के आगमन के साथ गोवा की खूबसूरती में चार चांद लग जाते हैं। यहां की जलवायु हमेशा ही खुशनुमा रहती है; क्रिसमस और न्यू ईयर पार्टी देखने और आनंद उठाने लायक है। हालांकि गोवा घूमने के लिए कोई ख़ास समय नहीं है। यहां समुद्र तट हमेशा ही लोगों से भरे रहते हैं, फिर भी तट पर आराम करने और धूप लगाने का सबसे अच्छा समय जाड़ा होता है। गुनगुनी धूप और हल्की हवा के बीच आपको एक अनोखा एहसास मिलेगा। क्या आप किसी धूपदार पर्यटन स्थल की तलाश में हैं? तो यकीनन गोवा इसके लिए एक बेहतरीन जगह है।

jpg

उत्तर प्रदेश

आगरा

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: अक्टूबर से मार्च

अभी बुक करें

दुनिया के सात आश्चर्यों में ताजमहल एक शानदार इमारत है जिसे शाहजहां ने बनवाया था और इसे 'प्यार की निशानी’ के नाम से भी जाना जाता है। मध्यकालीन शहर आगरा जाड़े के मौसम में घूमे जाने वाले उत्तर भारतीय शहरों में शुमार है। आगरा मुगल साम्राज्य के सुनहरे दौर का एक प्रमुख हिस्सा रहा। ताजमहल के अलावा इस शहर में और भी दर्शनीय स्थल हैं, जैसे कि आगरा किला और अन्य स्मारक और शाही आवास। यह अपने पारंपरिक संस्कृति, इंजीनियरिंग, मार्बल के काम, गाय के चमड़े से बनी चीजों और अपनी खान-पान की चीजों के लिए जाना जाता है। सर्दियों के मौसम में आगरा में दुनिया भर के पर्यटकों का सैलाब उमड़ता है, जहां वे ताजमहल की भव्यता का दीदार करते हैं और यकीनन आप कितने भी अकेले हों, पर आप यहां आकर खो जाएंगे। आगरा से लगभग घंटे की दूरी पर फतेहपुर सीकरी है, जिसे बुलंद दरवाजा के नाम से जाना जाता है, जो आज भारत का एक यूनेस्को विश्व विरासत स्थल है और भारत के मध्य कालीन इतिहास से प्रेम रखने वाले लोगों के लिए यह एक बेहद ख़ास जगह है। आगरा के समीप ही स्थित भरतपुर पक्षी अभयारण्य एक अन्य प्राकृतिक स्थान है।

ताज महोत्सव, बटेश्वर मेला और कैलाश मेला इस शहर में आयोजित होने वाले आकर्षक कार्यक्रम हैं।

jpg

गुजरात

अहमदाबाद

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: नवम्बर से फरवरी

अभी बुक करें

ऐसा स्थल जो कई प्रकार के पुरातत्वीय स्थानों, अभयाराण्यों, स्थानीय जनजातियों इत्यादि के लिए जाना जाता हो, उनमें गुजरात वाकई भारत की सांस्कृतिक राजधानी साबित होता है। कच्छ के विशाल रण के रेगिस्तान में आयोजित होने वाला रण उत्सव भारत का एक प्रमुख महोत्सव है और गिर वन के एशियाई सिंहों को देखने के बाद तो आपको यकीन हो जाएगा कि क्यों इस सर्दियों में आपको गुजरात आना चाहिए था। भारत की उष्णकटिबंधीय जलवायु के कारण यहां के स्थलों के भ्रमण के लिए सर्दियां सबसे सही मौसम साबित होता है। गुजरात उन स्थानों में शुमार है, जिन्हें भारत भ्रमण के दौरान, ख़ासकर सर्दियों के मौसम में अवश्य ही शामिल किया जाना चाहिए। इस जलवायु में इसके प्राचीन आकर्षक ढांचे खूब फबते हैं, जबकि आपके शरीर से छू कर निकलने वाली ठंडी हवा आपके एहसास को तरोताजा बना डालती है।

सर्दियों के मौसम में पश्चिम भारत में कई यादगार कार्यक्रम होते हैं, जिनमें पतंग महोत्सव भी शुमार है। इसका आयोजन इसी गुजरात क्षेत्र में होता है और इसमें भाग लेने के लिए न केवल भारतीय आते हैं, बल्कि दुनिया भर के लोग इस महोत्सव में शामिल होते हैं। पतंग महोत्सव हर वर्ष जनवरी के महीने में दो दिन चलने वाला कार्यक्रम है। यदि आपको भी इस महोत्सव में भाग लेना हो, तो आप समय पर अहमदाबाद पहुंच जाइए।

jpg

तमिलनाडु

चेन्नई

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: नवम्बर से फरवरी

अभी बुक करें

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई दक्षिण भारत की समृद्ध विरासत पेश करता है। चूंकि यह शहर आम तौर पर गर्म और उमस भरा रहता है, इसलिए सर्दियों में चेन्नई की यात्रा करना उचित होगा। विक्टोरियन इंजीनियरिंग से लेकर द्रविड़ शैली की चमक के साथ यह स्थान 'पूरब और पश्चिम का मिलन’ का एकदम सही एहसास देता है। यहां के कुछ मनोरम समुद्र तटों में शामिल हैं- मरीना बीच, कपालेश्वर मंदिर, गिन्डी नैशनल पार्क और सेंट थॉमस माउंट।

भले ही आप गर्मियों और बारिश के मौसम में चेन्नई आने से बच सकते हैं, पर सर्दियों में यहां का मौसम सुहावना हो जाता है, जो दक्षिण भारत की यात्रा का सबसे अच्छा समय है। भारत में सर्दी में यात्रा करने वाले स्थानों में एक चेन्नई भारत का चौथा सबसे बड़ा शहर है और अपने अभयारण्यों, मंदिरों और तटों से आपका मन मोह लेगा। महाबलिपुरम का ऐतिहासिक मंदिर काफी आकर्षक है, तंजावुर के धार्मिक स्थल और हस्तशिल्प लोगों को लुभाते हैं, तो मुदुमलाई के वन और वन्य-जीव आपको समृद्ध प्रकृति का एहसास देते हैं।

दक्षिण भारत का सबसे प्रसिद्ध त्योहार, पोंगल तमिलनाडु के ज्यादातर हिस्सों में काफी धूम-धाम से मनाया जाता है। यह त्योहार तमिलनाडु के लोगों के लिए बहुत मायने रखता है। इस दौरान वे एकत्र होकर प्रकृति देवता की पूजा-अर्चना करते हैं। इस तमिलनाडु के इस प्रमुख त्योहार के दौरान आपको गीत-संगीत का आनंद उठाने का अवसर मिलेगा। जनवरी में आने वाले त्योहारों की बात करें, तो वाकई पोंगल भारत का एक ख़ास मौका होता है।

jpg

राजस्थान

जयपुर

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: अक्टूबर से मार्च

अभी बुक करें

सर्दियों के मौसम में भारत के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों के बीच राजस्थान अपनी भव्यता, परंपरा, संस्कृति, रंग और इतिहास के कारण भारतीयों और विदेशियों के लिए लोकप्रिय स्थान है। यहां के अद्भुत शाही महलों, नक्काशीदार खंभों, परंपरागत गतिविधियों और कारीगरी, स्थानीय व्यंजन और थार रेगिस्तान की चमकती रेत आपको खूब लुभाएंगे। एक यात्री के तौर पर आपको यहां खुल कर घूमने-भटकने का मौका मिलता है। राजस्थान के किलों और शाही निवासों की झलकियां और वह भी सर्दियों के मौसम में, तो वाकई यह आपके लिए कमाल का अनुभव होगा। और फिर आधुनिक जीवन और राजस्थानी गर्मजोशी का क्या कहना! केरल को 'गॉड्स ऑन कंट्री' कहा जाता है, तो राजस्थान को गर्म राज्य और इसमें कोई संदेह नहीं कि बावजूद इसके यह भारत के लोकप्रिय स्थानों में शुमार है।

गुलाबी शहर जयपुर राजस्थान की राजधानी है। यह आम तौर पर एक गर्म शहर है, पर यहां की ठंड काफी प्यारी होती है। इस शहर की लुभाने वाली जलवायु वाकई पर्यटन के लिए मुफ़ीद है। इसके अलावा, इस मौसम में जयपुर में कई प्रसिद्ध महोत्सवों का आयोजन किया जाता है, जैसे कि जयपुर लिटरेचर फेस्ट। इस स्थान पर जाने का सबसे अच्छा समय अक्टूबर और मार्च के बीच है, यानी पतझड़ से सर्दियों के बीच। इस समय पर्यटकों को यहां की तपती गर्मी से राहत मिलती है और वे लुभावने और शांत मौसम का आनंद ले पाते हैं। यहां के प्रसिद्ध मेलों और महोत्सवों में शामिल हैं पतंग महोत्सव, ऊंट महोत्सव, विंटेज कार रैली, जयपुर साहित्व महोत्सव, तीज, गंगौर, हाथी महोत्सव। यहां के चहल-पहल भरे बाजार और शहर के लोगों के रंग-बिरंगे पारंपरिक परिधान इसकी खूबसूरती में चार चांद लगाते हैं। इस स्थान के व्यंजन भी आपको जरूर आज़माने चाहिए।

jpg

अंडमान और निकोबार द्वीप

पोर्ट ब्लेयर

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: अक्टूबर से मई

अभी बुक करें

सर्दियों के मौसम में भारत के भ्रमण करने वाले स्थानों की सूची में अंडमान का हैवलॉक द्वीप काफी लोकप्रिय है। यहां का राधानगर बीच बेहद लोकप्रिय है। हैवलॉक के शिप डॉक से 12 किमी दूर स्थित इस तट को एक प्रसिद्ध पत्रिका द्वारा 'एशिया के सर्वोत्तम तटों में एक’ और 'दुनिया के सातवें सर्वोत्तम तटों में एक’ के रूप में घोषित किया गया है। सर्दियों के मौसम में यहां की सफेद रेत, ताड़ के पेड़ और नीले पानी का कमाल का संयोजन बन जाता है।

यदि आपने इस द्वीप पर यात्रा करने के सबसे उपयुक्त समय का विचार किया हो, तो सर्दियां ठंडी होती हैं, पर यकीन मानिए ये मजेदार होती हैं। इस समय कई सारी गतिविधियां होती हैं। नवम्बर से फरवरी के चार महीनों के दौरान यह मेहमानों को आने और हैवलॉक का आनंद उठाने का पर्याप्त समय प्रदान करता है। इस द्वीप पर अपनी सबसे अच्छी गतिविधियां करने के लिए यह आपके लिए सबसे अच्छा समय होता है। व्यस्त समय होने के कारण आपको असुविधा हो सकती है, इसलिए पहले से अपनी बुकिंग करवा लेना उचित होगा।

पोंगल त्योहार पोर्ट ब्लेयर का एक अन्य लोकप्रिय महोत्सव है। यह अद्भुत त्योहार पोर्ट ब्लेयर का काफी आकर्षक महोत्सव होता है जो फ़सल की कटाई पर आधारित होता है।

jpg

जम्मू-कश्मीर

श्रीनगर

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: अक्टूबर-अप्रैल

अभी बुक करें

यदि आपके पास श्रीनगर पहुंचने का विकल्प है, तो आपको स्विजरलैंड की क्या जरूरत। हम सभी को पता है कि सर्दियों के मौसम में यह स्थान कितना दिलकश हो उठता है। बर्फ़ से ढंकी वादियां, आपको सम्मोहित करती चोटियां, कई प्रकार के स्पोर्ट्स और जमी हुई झीलें पर्यटकों को इस स्वर्ग पर आने के लिए खूब लुभाते हैं। इसलिए जब आप भारत में सर्दियों के मौसम में पर्यटन की योजना बनाएं, तो अपनी लिस्ट में श्रीनगर को सबसे ऊपर रखें। चाहे जो हो अपनी चमकती डल झील, हरी-भरी वादियों और दिलकश कुदरत से यह शहर सदियों से लोगों को अपनी ओर आकर्षित करता रहा है। यदि आप सर्दियों में श्रीनगर घूमने की योजना बना रहे हैं, तो आपको यहां बिछी बर्फ़ की कुदरती खूबसूरती के बीच बहुत कुछ देखने को मिलेंगी। दिसम्बर से फरवरी के बीच डल झील ठंड से जम जाती है और उसके बाद बहुत कम ही संभावना होती है कि आप शिकारा का आनंद ले पाएं। भाग-दौड़ करने की कोशिश न करें, क्योंकि सर्दियों के दौरान आपको इस शहर में देखने-घूमने के लिए बहुत सी चीजें मिलेंगी। ज्यादातर लोग सर्दियों में श्रीनगर बर्फ़बारी का मजा लेने आते हैं। कश्मीर के 1,585 मीटर की ऊंचाई पर स्थित यह शहर मुख्यतः मुस्लिम संस्कृति का केंद्र रहा है, जो आपको यहां के मकबरों और मस्जिदों समेत कुछ और इमारतों को देखकर पता चल जाएगा। हजरतबल दरगाह, जामा मस्जिद, आली मस्जिद, पत्थर मस्जिद, जैन-उल-अबिदीन की मां का मकबरा और पीर हाजी मुहम्मद का मकबरा यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। इसके अलावा बारीक कश्मीरी कारीगरी - पश्मीना शॉल, फ्लेटवेयर, पीतल के सामान, लकड़ी के फर्नीचर, मेजपोश और कालीन जैसी कलात्मक चीजें कश्मीरी लोगों की सांस्कृतिक चीजों की तलाश रखने वाले पर्यटकों को खूब लुभाती हैं। आर्ट्स एम्पोरियम और एसपीएस म्यूजियम श्रीनगर घूमने के अच्छे स्थानों में हैं, जहां आपको तमाम तरह की कश्मीरी कारीगरी के नमूने देखने को मिल जाएंगे। परी महल मुगल काल से जुड़ा है, निगीन झील और शाही स्प्रिंग गोल्फ़ कोर्स श्रीनगर के कुछ अन्य स्थान हैं, जहां आप घूम सकते हैं। श्रीनगर का पुराने हिस्से का एक अलग तरह का आकर्षण है। हरि पर्बत पुराने श्रीनगर का एक महत्वपूर्ण स्थान है।

सर्दियों के मौसम में कश्मीर में मनाया जाने वाला बर्फ़ महोत्सव काफी दिलकश नज़ारा पेश करता है। इसका आयोजन जनवरी में गुलमर्ग में किया जाता है और इसमें लोगों का उत्साह देखते ही बनता है। यह 3 दिनों तक चलने वाला महोत्सव है जिसमें साइक्लिंग, स्कीइंग, स्नोबोर्डिंग और आईस-स्केटिंग जैसे खेल शामिल रहते हैं। तीन दिनों तक चलने वाले महोत्सव में स्नो साइक्लिंग लोगों को सबसे अधिक लुभाती है। इसमें माउंटेन बाइकर्स भाग लेते हैं और दर्शक उनका खूब उत्साह बढ़ाते हैं।

अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन

jpg

माल्दीव्स

माले

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: नवम्बर से अप्रैल

अभी बुक करें

माल्दीव्स घूमने का सबसे अच्छा समय नवम्बर से अप्रैल के बीच है। यह आइलैंड देश आम तौर पर सालों भर गर्म और चमकदार रहता है, पर यहां एक शुष्क और एक गीला मौसम भी देखने को मिल जाते हैं। हर मौसम में यहां आने की अपनी खूबी-खामी होती है। पर्यटकों को माल्दीव्स में सबसे अच्छा मौसम नवम्बर और अप्रैल के बीच देखने को मिलते हैं, क्योंकि तब यहां कम बारिश होती है और गर्मी भी कम अनुभव होती है। हालांकि यह यहां का सबसे व्यस्त मौसम होता है, इसलिए कमरे की कीमतें बढ़ जाती हैं। इसके बावजूद, चूंकि प्रत्येक रिजॉर्ट के अपने द्वीप होते हैं, इसलिए आपको लोगों की भीड़-भाड़ से सामना नहीं करना पड़ेगा, जैसा कि दूसरे पर्यटक स्थलों पर आपको झेलना पड़ता है।

मई से अक्टूबर के महीने को आंधी-तूफान भरे मौसम के रूप में देखा जाता है, जब यहां जमकर बारिश होती है और अक्सर तेज हवाएं बहती हैं। पर्यटक इस मौसम के लिए शायद बेहतर व्यवस्था खोज लेंगे (हालांकि "मोल-तोल” प्रचलित है, क्योंकि माल्दीव्स वर्ष भर महंगा रहता है)। यह मौसम सर्फर्स के लिए आकर्षक होता है, हालांकि समंदर में तेज और ऊंची लहरें उठती हैं।

jpg

थाइलैंड

फुकेत

यहां पहुंचने का सबसे उपयुक्त समय: नवंबर से फरवरी

अभी बुक करें

पर्यटकों को सर्दियों का मौसम खूब लुभाता है। समुद्र तटों पर लंबे भ्रमण का यह सबसे अच्छा समय होता है और गर्मी की चिलचिलाहट से राहत पाते हुए आपको एक आनंददायक अनुभव मिलेगा। सर्दियों के मौसम का एक स्थान जो यात्रा के लिए बेहद अनुकूल है, वह है दक्षिण एशिया का देश, थाइलैंड। बेशक, नवम्बर से मार्च को इस देश के पर्यटन के लिए सबसे अच्छा समय माना जाता है। अविवाहितों के लिए इस धरती के सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल के रूप में माना जाने वाला थाइलैंड कई दिलकश चीजों की जगह है, जिनमें खूबसूरत अभयारण्यों से लेकर खान-पान और मनोरम द्वीप और समुद्र तट तक शामिल हैं।

कुछ समय फुकेत (थाइलैंड का सबसे ज्यादा भीड़-भाड़ वाला द्वीप) में गुजारना बड़ा ही सरल है। तली हुई मछलियां, लुभावना मौसम, मददगार लोग और हर बजट के लिए कई सारी गतिविधियां आपको बांध कर रखते हैं। और तो और हमें यहां के तटों को नहीं भूलना चाहिए - क्योंकि इसके घने वन के दृश्य के कारण यह "अंदमान का मोती” सफेद चमकती रेत की एक अनोखी दुनिया बुनता है। फुकेत में आपको देखने-खोजने के लिए काफी कुछ मिल जाएंगे। समूचा द्वीप सड़क से जुड़ा हुआ है और किसी भी तट पर जाने के लिए आपको ज्यादा खर्च नहीं करना पड़ता है। यहां पहुंचने में आपको ज्यादा मशक्कत नहीं करनी होगी - हर दिन यहां के लिए काफी सारी उड़ानें आती हैं इसलिए पर्यटक की आवाजाही बनी रहती है। जब आप यहां पहुंच जाएं, तो आप जम्पिंग, प्रकृति भ्रमण या कई दिनों तक फाई द्वीप, सिमिलन द्वीप या फांग गा खाड़ी की यात्रा करने जरूर जाएं।

एडिथ सिटवेल ने कहा था, "सर्दियां आराम का समय होती है, अच्छे खाने और गर्मी लेने का समय होती है, एक दोस्ताना हाथ और आग के बगल में बैठकर बातचीत करने का समय होती: यह घर पर रहने का समय होता है।" पर हमारा आपको यही सुझाव है कि आप इसे जरा अलग तरीके से करिए, घर पर न रहिए, यात्रा पर निकल जाइए और किसी नए स्थान का चयन कीजिए। हमारे संपर्क में रहिए और इस मौसम का खूब आनंद उठाइए।

और प्रेरणा चाहिए?

1500 दैनिक उड़ानें
63 घरेलू शहर
24 अंतर्राष्ट्रीय शहर
300+ लाख खुश ग्राहक
270+ विमान