शिलॉन्ग - बादलों में बसा स्वर्ग

Shillong Airport Directory (SHL)
Baggage Allowance
15Kg
7Kg
न्यूनतम °
मैक्स °

शिलॉन्ग हिल टाउन भारत के उत्तर पूर्वी हिस्से में एक छिपा हुआ खजाना है और यह मेघालय की राजधानी है। यह भारत का एक लोकप्रिय हिल स्टेशन और पर्यटक स्थल है और स्कॉटलैंड के हाइलैंड्स के साथ इसकी जबरदस्त समानता के कारण इसे लोकप्रिय रूप से पूर्व का स्कॉटलैंड कहा जाता है। .  

ब्रिटिश के समय में शिलॉन्ग असम की राजधानी हुआ करता था। वर्ष 1972 में एक राज्य के रूप में मेघालय के अलग होने के बाद यह मेघालय की राजधानी बन गया। यह अनेक वर्षों तक पूर्वी बंगाल और असम की ग्रीष्मकालीन राजधानी बना रहा। .

शिलॉन्ग की शानदार पर्वत चोटियां शहर का एक आकर्षक दृश्य प्रस्तुत करती हैं, इसकी क्रिस्टल की तरह साफ झीलें और झरने भव्यता प्रदान करते हैं, और इसकी गहरी शांति वाकई आपकी आत्मा को शांत प्रदान करेगी। चूंकि यहां पर खासी, जयंतिया और गारो पहाड़ी जनजातियां रहती हैं, इसलिए आपकों यहां रंग-बिरंगी जीवन शैली और सांस्कृतिक परंपराएं भी देखने को मिलेंगी।.

यदि आप ऊबाऊ शहर से दूर मानसिक शांति की तलाश कर रहे हैं, तो छुट्टियों के दौरान आप इस स्वर्ग जैसे स्थान पर अपना समय व्यतीत कर सकते हैं। .

शिलॉन्ग जाने का उपयुक्त समय:  शिलॉन्ग का मौसम सालों भर बेहद खुशनुमा रहता है और यहां किसी भी समय विजिट किया जा सकता है।

आइए हम आपको साल भर के विभिन्न मौसमों के बारे में बताएं ताकि आप अपनी यात्रा की तैयारी ठीक से कर सकें।.

गर्मी - मार्च से जून:: गर्मियों के दौरान, यहां का तापमान 15°C और 24°C के बीच होता है। यह आपकी अगली गर्मी छुट्टी में पर्यटन स्थलों का भ्रमण और ऐडवेंचर भरे कारनामों की योजना बनाने का सही समय है।.

मानसून - जून से सितंबर: इन महीनों के दौरान, शिलॉन्ग में औसत से लेकर भारी वर्षा होती, जिसमें जुलाई के महीने में सबसे अधिक वर्षा होती है। यह मौसम यहां के झरने और वर्षा से नहाए खूबसूरत लैंडस्केप देखने का सबसे अच्छा समय होता है।.

जाड़ा - अक्टूबर से फरवरी : शिलॉन्ग में, अक्टूबर से वर्षा कम होना शुरू हो जाती है और नवंबर की शुरुआत में सर्दियां आ जाती हैं जब यहां का तापमान गिरकर
2°C तक हो जाता है। यह आपके जाड़े की छुट्टियों के लिए बिल्कुल सही जगह है क्योंकि इन महीनों में हिल टाउन स्वर्ग की तरह दिखाई देता है।.

शिलॉन्ग कैसे पहुंचें:

हवाई सेवा: शहर के मध्य से शिलॉन्ग एयरपोर्ट या उमरोई एयरपोर्ट की दूरी 30. किमी है। इंडिगो अपने ATRs के साथ शिलॉन्ग और कोलकाता को जोड़ता है। 

असम राज्य की राजधानी गुवाहाटी का नजदीकी एयरपोर्ट भी शिलॉन्ग के नजदीक है। NH.40 पर 4 घंटे की ड्राइव करके आप गुवाहाटी एयरपोर्ट से शिलॉन्ग जा सकते हैं।

रेल सेवा: पल्टन बाजार स्थिर गुवाहाटी रेलवे स्टेशन शिलॉन्ग एयरपोर्ट से निकट का रेलवे स्टेशन है, जो 90. किमी की दूरी पर है।

बस सेवा: शिलॉन्ग और गुवाहाटी के बीच लगभग हर आधी घंटे पर बसें चलती हैं। टैक्सी किराए पर लेना भी एक अच्छा विकल्प है।.

Baggage Allowance
15Kg
7Kg
न्यूनतम °
मैक्स °

Book air tickets to Shillong (W.E.F. 20th July, 2019)

उड़ान बुक करें

Travel at ease with 6E Double Seat

वेब चेक इन

अब अपने घरेलू फ्लाइट के निर्धारित प्रस्थान से 1 घंटा पहले किसी भी समय वेब चेक-इन करें। कुछ निश्चित सीटों पर शुल्क लग सकते हैं।

विमान की स्थिति

अपनी उड़ान की स्थिति की जांच करने के लिए उड़ान विवरण दर्ज करें।

6E-

बुकिंग देखें/बदलें

आप अपनी बुकिंग बदल सकते या कैंसल कर सकते हैं, स्नैक्स, बैगेज या सीट जैसी सेवाओं को जोड़ सकते और अपनी आइटिनरेरी प्रिंट कर सकते हैं।

यदि हमने आपकी उड़ान रद्द / रद्द कर दी है। यहां क्लिक कर

संपर्क विवरण अपडेट करें

समीक्षा के लिए बुकिंग विवरण दर्ज़ करें, संपर्क विवरण अपडेट करें।

जीएसटी चालान देखें

जीएसटी चालान देखें

OR

यदि हमने आपकी उड़ान रद्द / रद्द कर दी है। यहां क्लिक कर

शिलॉन्ग में घूमने वाली जगहें

शिलॉन्ग में खाले वाली जगहें

ट्रैटोरिया - पुलिस बाजार रोड, शिलॉन्ग
ट्रैटोरिया - पुलिस बाजार रोड, शिलॉन्ग

ट्रैटोरिया स्थानीय लोगों के लिए बेहद लोकप्रिय है जिन्हें यहां का स्वाद जुबान पर चढ़ गया है। यहां शहर का सबसे प्रामाणिक खासी कुजिन मिलता है।

यह खासतौर पर स्थानीय खासी भोजन की रचनात्मक प्रस्तुति में मिलती है। एक छोटा सा प्रतिष्ठान, ट्रैटोरिया शाम के समय आराम से बैठने की जगह नहीं है। यह जगह बहुत भीड़-भाड़ वाली रहती है और देर तक इंतजार करना होता है। इसलिए अगली बार जब भी आप शिलॉन्ग आएं, ट्रैटोरिया जाएं और पारंपरिक खासी भोजन का मजा लें और एक नए अनुभव के साथ अपने घर जाएं।

 

और देखो
कैफे शिलॉन्ग
कैफे शिलॉन्ग

वीकेंड के दौरान इस कैफे को आजमाएं जो अपने म्युजिकल परफॉर्मेंस और स्वादिष्ट खाउस्वे, स्टीक्स और थुक्पा व्यंजनों के लिए जाना जाता है।

और देखो
जदोह
जदोह

जदोह में स्मोकी मीट करी का मजा लें, कॉम्बो मील्स आजमाएं जिसमें भात, सलाद, मांस करी, चटनी और सब्जी दी जाती है।

और देखो
सिटी हट फैमिली ढाबा
सिटी हट फैमिली ढाबा

जैसा कि नाम से पता चलता है, इस रेस्तरां में जरूर आएं। इस रेस्तरा में अच्छी सेवा के साथ-साथ उत्कृष्ट व्यंजनों के सुगंध से आपका स्वागत किया जाएगा। बैठने की जगह के विकल्प के साथ-साथ इस रेस्तरा में अनेक प्रकार के व्यंजन परोसे जाते हैं। रेस्तरां के आसपास का माहौल ढाबा की तरह है और यहां आधुनिक डाइनिंग अनुभव मिलता है।

और देखो
देजा वू
देजा वू

देजा वू में अच्छे संगीत, खाना और समारोहों के लिए ज्यादातर युवा लोग आते हैं।   यहां का शांत वातावरण आगंतुकों के लिए एक सुकूनदायक और सुखदायक अनुभव देता है। साथ ही आप लाउंज के कराओके स्टेशन में गाना गाने की आजमाइश करें।

और देखो
कम देखें

शिलॉन्ग में खरीदारी

अनोखे सुवनियर्स इकट्ठे करने से यात्रा की अच्छी स्मृतियां बन जाती हैं। शिलॉन्ग में ऐसी अनेक जगहें हैं जहां एक शानदार खरीदारी अनुभव लिया जा सकता है, और आपको अनेक किस्मों के सुवनियर्स मिलेंगे जिन्हें आप खरीद सकते हैं। यदि आपको अपने घर को सजाने का शौक है, तो बांस और बेंत से बने जनजातीय कारीगरी वाले उत्पाद आपका ध्यान आकर्षित करेंगे। सौन्दर्यात्मक आकर्षण के साथ-साथ, ये आयटम आपके घर के लिए एक पर्यावरण-अनुकूल आयाम भी प्रदान करेंगे। ऐसे लोगों के लिए जिन्हें अपने वार्ड्रोब्स में चीजें बढ़ाना पसंद है, आपको डिजाइनों और फैब्रिक्स की एक संपूर्ण दुनिया मिलेगी जिसमें आप हाथ से बुने हुए शॉल, एथनिक जैकेट्स, पारंपरिक खासी पोशाक और आधुनिक फैशन की टोपियां ले सकते हैं। स्थानीय फूड स्टोर्स में जाएं और अपनी रसोई में प्रयोग करने के लिए कुछ खास इंग्रेडिएंट्स खरीदें।

पर्यटकों के बीच लोकप्रिय सुवनियर्स में शामिल हैं शिर्मिट (हल्दी) पाउडर, छोटी लाल और हरी मिर्चियां, सोहमिरित (गोलमिर्च), रिंडिया (मुगा सिल्क) शॉल, स्कॉटिश कपड़ा, ऑर्गेनिक उत्पाद, बांस के बने हैंडिक्राफ्ट्स।

लेवदुह या बारा बाजार और पुलिस बाजार इलाके के सबसे पुराने और सबसे पारंपरिक बाजार हैं और इसलिए शिलॉन्ग आने पर यहां जरूर जाएं। इन बाजारों में प्रसिद्ध जायकेदार स्ट्रीट फूड अवश्य चखें। इसमें में से कुछ स्ट्रीट फूड हैं तुंग्रिमबई, जदोह, दोन इत्यादि।

लेवदुह या बारा बाजार: यह बाजार उत्तरपूर्व भारत का सबसे पुराना और सबसे बड़ा ट्रेड सेंटर है और इसका नाम लेवदुह से पड़ा है जिसका अर्थ होता है 'आम लोगों का'। यहां मिलने वाली अनेक प्रकार की चीजें आजमाएं जिसमें शामिल हैं हैंडिक्राफ्ट्स, मौसमी सब्जियां, फल और अनोखे मसाले। हर वर्ष अप्रैल के महीने में यहां स्थानीय अनुष्ठान किए जाते हैं। इसमें बड़ी संख्या में मोनोलिथ्स इकट्ठा होते हैं जिन्हें 'मावबिना’ कहते हैं, इसके बाद बाजार लगाया जाता है। इन अनुष्ठानों को इलाके के व्यापार और अर्थव्यवस्था के लिए शुभ माना जाता है। घर की सजावट के लिए बांस और बेंत के बने पर्यावरण अनुकूल आयटमों की खरीदारी करें, अपने वार्ड्रोब के लिए आधुनिक फैशन वाले फैब्रिक्स और रेडी-मेड कपड़े खरीदें। कुछ ऑरेंज हनी, ब्लैक मशरूम, अनानास, नारंगी और अन्य फल उत्पाद खरीदें।

पुलिस बाजार: यह बारा बाजार की तुलना में आधुनिक बाजार है और यहां अनेक रेस्तरां, दूकानें और अन्य चीजें हैं। आपको यहां ऐसी पारंपरिक दूकानें भी मिलेंगी जिनमें उत्तम श्रेणी के हैंडिक्राफ्ट्स बेचे जाते हैं। जाड़े के कपड़े, गैजेट के लिए यहां खरीदारी करें और बाजार में अनेक प्रकार के स्वादिष्ट व्यंजनों का स्वाद लें। इस बाजार में आने से पहले मोलभाव करना सीख लें।

BambooCraft

शिलॉन्ग नाइटलाइफ

शिलॉन्ग की हरेक सड़क म्यूजिक के लिए स्थानीय लोगों के टैलेंट और पैशन से भरी हुई है। हरेक शनिवार की शाम, स्थानीय लोग और पर्यटक इकट्ठा होकर स्थानीय बैंड और लोकप्रिय डीजे की म्यूजिक पर रात भर नृत्य करते हैं। शिलॉन्ग में बेहतर मनोरंजन के लिए सबसे अच्छी जगहें हैं:

  • प्लैटिनम: होटल पोलो टॉवर, पोलो ग्राउंड्स
  • क्लाउड 9: होटल सेंटर प्वॉइंट, पुलिस बाजार
  • टैंगो: ओबी शॉपिंग मॉल, पुलिस बाजार

शिलॉन्ग में कहां ठहरें:

RiKynjai

रि किंजई सेरिनिटी बाय द लेक रि किंजई शब्द का अर्थ है 'शांत भूमि'। कॉटेज के साथ यह स्पा-रेजॉर्ट उमियम झील को निराला बनाता है और इसमें एक ऐसा आर्किटेक्चर है जिसका डिजाइन मूल खासी फूस की झोपड़ियों से लिया गया है। हरेक कॉटेज के लिविंग/बेडरूम एरिया में एक फायरप्लेस लगा हुआ है और भुगतान की गई कीमत के लिए एक बड़ी बात है।

CafeShillong

कैफे शिलॉन्ग बेड और ब्रेकफास्ट शिलॉन्ग के इस 70 साल से अधिक पुराने बंगले में सुखद और आरामदेह विश्राम का आनंद लें। यह बूटिक पूरी तरह से फर्निश्ड है।

RoyalHeritage

रॉयल हेरिटेज - त्रिपुरा कैसल होटल के वातावरण में पुराने जमाने की मोहकता के साथ शाही सौंदर्य का अनुभव लें। होटल पहाड़ की चोटी पर स्थित है जिसके चारों ओर पाइन के जंगल हैं और यहां से शानदार नजारे दिखाई देते हैं।

AerodeneCottage

एरोडेन कॉटेज लकड़ी और बांस से बने पारंपरिक असम शैली में 60-वर्ष पुराने एक औपनिवेशिक विरासत वाला निवास। इसमें आधुनिक और परंपरागत सुविधाएं मौजूद हैं।

यहां आने के और भी कारण

शहर के चारों ओर फैई हुई हरी-भरी पहाड़ियों के साथ-साथ, शिलॉन्ग के स्थानीय त्योहार आपको विस्मित कर देंगे! ऐसा माना जाता है कि खासी समुदाय में अनेक ऐसे त्योहास होते हैं जो नृत्य पर आधारित होते हैं जैसे ‘का शाद सुक मिनसेइम’, ‘का पोम-ब्लांग नॉन्गक्रेम’ और ‘का-शाद सिंगविआंग-थानगेप’।  गारो जनजाति के लोग झूम खेती करते हैं, प्रकृति और उनके मुख्य त्योहार हैं देन बिलसिया, वनगाला, रोंगचू गाला। बेहदीनखलम ओर लाहो नृत्य जयंतिया के त्योहारों में महत्वपूर्ण होते हैं, उनके लिए सांस्कृतिक विरासत का संरक्षण और लोगों के बीच एकता पहली प्राथमिकता होती है।

MoreReasons_Nongkrem

इस शहर के आसपास

चेरापूंजी:शिलॉन्ग से लगभग 2 घंटे की ड्राइव, चेरापूंजी जिंदा जड़ों से बने पुलों के लिए जाना जाता है और साल में सबसे अधिक वर्षा होने का रिकॉर्ड भी चेरापूंजी के पास है।

6E & चीकी

इसकी समृद्ध सांस्कृति विरासत, सुखद मौमस और बेहद शानदार लैंडस्केप इसे सभी उम्र के लोगों के लिए एक सटीक तनावमुक्त छुट्टी बनाता है। भारत में यह एकमात्र हिल स्टेशन है जहां सभी दिशाओं से पहुंचा जा सकता है जिससे यहां पहुंचना आसान हो जाता है। आपकी यात्रा तब तक पूरी नहीं यदि आप शिलॉन्ग के दुर्लभ और मित्रवत जनजातियों से नहीं मिलते हैं। खासी समुदाय के बारे में एक खास बात यह है कि ये मातृवंशीय (मैट्रिलिनीअल) होते हैं। इसलिए बच्चों में मां का उपनाम लगता है और सबसे छोटी बेटी को विरासत की संपत्ति मिलती है। एक तनावमुक्त और आरमदेह एहसास पाने के लिए शिलॉन्ग को अपनी यात्रा सूची में डालना न भूलें।

6ECheeky_KhasiCommunity
Top
1500 दैनिक उड़ानें
63 घरेलू शहर
24 अंतर्राष्ट्रीय शहर
300+ लाख खुश ग्राहक
270+ विमान